दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय,
भारत सरकार

मुख पृष्ठ >> छात्रवृत्ति >> विकलांग व्‍यक्तियों के लिए राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति

विकलांग व्‍यक्तियों के लिए राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति

विकलांग व्यंक्तियों के लिए राजीव गॉंधी राष्ट्रीय छात्रवृत्ति की योजना विकलांग व्यक्तियों को मास्टर डिग्री और पीएचडी के स्तंर की पढ़ाई विदेश में करने के लिए छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लक्ष्य् को ध्यान में रखते हुए शुरु की गयी। प्रत्येक वर्ष 20 छात्रवृत्ति दी जाती है, जिसमें से छ: महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। इस छात्रवृत्ति की राशि में अनुरक्षण भत्ता , आकस्मिक भत्ता , शिक्षा शुल्क , और वायु यात्रा इत्यादि के व्यय शामिल हैं। उक्त् योजना वर्ष 2014-15 में शुरु की गयी थी। उपर्युक्त के अलावा, प्रत्ये्क वर्ष दो विकलांग छात्रों को ‘’यात्रा अनुदान’’ दिया जाता है। केवल वे ही विकलांग व्यक्ति इस योजना के लिए पात्र होंगे, जो विदेश में स्नाातकोत्तपर अध्ययन, शोध अथवा प्रशिक्षण (सिवाय सेमनिार, कार्यशाला, सम्मेवलन में भाग लेने के) के लिए विदेशी सरकार / संगठन अथवा किसी अन्य योजना के अधीन मेधावी छात्रवृत्ति प्राप्त कर रहे हैं, जिनमें यात्रा पर खर्च होने वाला व्यय प्रदान नहीं किया जा रहा है। इस यात्रा अनुदान में गृह शहर से विदेशी संस्थान तक का आने – जाने का इकॉनोमी श्रेणी का किराया शामिल है।

अंतिम नवीनीकृत : 06-11-2015